भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रकार

Types of Indian Economy भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रकार – हमने अर्थव्यवस्था के प्रकारों में से  ” विचारधारा के आधार ” ,  ” विकास के आधार ” ,  तथा  ” विचारधारा विकास के आधार ” पर पढ़ा ।
आज हम “प्रति व्यक्ति आय के आधार ” पर निम्न आय अर्थव्यवस्था , मध्य एवं उच्च आय अर्थव्यवस्था, “खुलेपन के आधार पर” – खुली अर्थव्यवस्था , बंद अर्थव्यवस्था,  ” क्षमता के आधार पर “- आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था एवं निर्भर अर्थव्यवस्था , तथा ” भौगोलिक के आधार पर” – क्षेत्रीय , राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था  के विषय में पढेंगे ।

प्रति व्यक्ति की आय के आधार पर अर्थव्यवस्था

प्रति व्यक्ति की आय के आधार पर अर्थव्यवस्था को वर्ल्ड बैंक ( World Bank ) ने विभाजित किया है
निम्न आय अर्थव्यवस्था ( 1045 डॉलर प्रति वर्ष ) वर्ल्ड बैंक ने जुलाई 2015 में  कहा यदि 1045 डॉलर प्रति वर्ष कमाता है तो वह निम्न आय अर्थव्यव्स्स्था है
मध्य  आय अर्थव्यवस्था ( 1046-12735 डॉलर प्रति वर्ष )
1. निम्न मध्यम आय वर्ग – 1046-4125
2. उच्च मध्यम आय वर्ग – 4126-12735
उच्च आय अर्थव्यवस्था ( 12736 से डॉलर से ज्यादा प्रति वर्ष ) – वर्ल्ड बैंक ने  कहा यदि 12736 डॉलर प्रति वर्ष से ज्यादा  कमाता है तो वह उच्च आय अर्थव्यव्स्स्था है

Types of Indian Economy-अर्थव्यवस्था के प्रकार

खुलेपन  के आधार पर अर्थव्यवस्था

बंद अर्थव्यवस्था वो जो विदेश व्यापर ऐ नहीं जुडती अर्थात आयात निर्यात बहुत ही कम करती है तथा जो वैश्वीकरण से नहीं जुडती है (समाजवादी)
खुली अर्थव्यवस्था जो मुक्त व्यापार करती है, जो आयात निर्यात को बढ़ावा देती है तथा जो वैश्वीकरण से जुडी होती है (पूंजीवादी)
1990 के बाद समाजवादी अर्थव्यवस्था का पतन हुआ और जितने भी  बंद अर्थव्यवस्था थे सभी खुली अर्थ व्यवस्था में बदल गए , अर्थात विदेशी निवेश के लिए खुल गई । – सबसे बड़ा “चीन”

क्षमता  के आधार पर अर्थव्यवस्था

आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था जो अपने जरूरत की चीजों का निर्माण कर ले या उत्पादन ना कर पाए तो अपने विदेशी मुद्रा से बाहरी आयात कर ले । – विकसित अर्थव्यवस्था
निर्भर अर्थव्यवस्था जो अपने जरूरत की चीजों ना तो निर्माण कर पाए और ना ही अपनी विदेशी मुद्रा से बाहरी आयात कर सके । – अल्प-विकसित अर्थव्यवस्था

भौगोलिक  के आधार पर अर्थव्यवस्था

क्षेत्रीय अर्थव्यवस्था किसी गाँव जिला या प्रान्त को ध्यान दे
राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था भारत (India), चीन (China), USA जो संप्रभु देश है
वैश्विक य अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था वैश्वीकरण के द्वारा दुनियां के देश आपस में जुड़े हो जो आरती गुट ASEAN, वैश्विक जुड़ाव तथा WTO ( World Trade Organization ) अर्थव्यवस्था आपस में जुड़ जाए