अल्प-विकसित , विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था

अल्प-विकसित, विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था – Under-developed, developing & Developed – इसके पहले हमने पढ़ा की ” विचारधारा के आधार पर ” अर्थव्यवस्था के कितने प्रकार  है ।
आज हम ” विकास के आधार पर  ” अर्थव्यवस्था के बारे में पढेंगे, जिसके अंतर्गत अल्प-विकसित , विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था है ।
इसके साथ ही हम ” विचारधारा विकास के आधार पर ” अर्थव्यवस्था के बारे में भी जानेंगें जिसके अंतर्गत हम पहली दुनिया के देश , दूसरी , तीसरी  एवं चौथी दुनियां के देश के आधार पर अर्थव्यवस्था को जानेंगें ।

अल्प-विकसित, विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था

इसका निर्धारण 2 आधार से किया जाता है :  1. राष्ट्रीय आय के आधार पर एवं 2. सुविधाओं के आधार पर –
सडक बिजली, संचार, शिक्षा स्वास्थ्य ये सब सुविधाएँ  पर्याप्त है तो इसे विकसित देश कहते है, अर्थात ये सुविधाएँ उपलब्ध है तो विकसित , बन रही है तो विकासशील और यह उपलब्ध नहीं है तो अल्प विकसित है 
 
 

पहली दुनियां के देश – अर्थव्यवस्था 

जिन्होंने पूंजीवाद अर्थव्यवस्था को चुना एवं विकसित हुए है वो पहली दुनियां के देश कहलाते है – जैसे यूरोप USA

विकास तथा  विचारधारा विकास के आधार पर

अल्प-विकसित , विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था

द्वितीय दुनियां के देश – अर्थव्यवस्था 

जिन्होंने समाजवादी अर्थव्यवस्था को चुना एवं विकसित हुए है वो द्वितीय दुनियां के देश कहलाते है – जैसे पूर्व सोवियत संघ

तृतीय दुनियां के देश – अर्थव्यवस्था 

जिन्होंने मिश्रित अर्थव्यवस्था को अपनाया  एवं  जो दुसरे विश्वयुद्ध के बाद स्वतन्त्र हुए इन्हें विकासशील देश एवं तृतीय दुनियां के देश कहते है – जैसे भारत, नेपाल व श्रीलंका

चौथी दुनियां के देश – अर्थव्यवस्था 

जिन्होंने इन तीनों अर्थव्यवस्था के विचारधारा में किसी एक से स्थायी रूप में नहीं जुड़ पाए तो वह अल्प विकसित देश कहलाते है । अफ्रीका एवं युगांडा 
 

1 thought on “अल्प-विकसित , विकासशील एवं विकसित अर्थव्यवस्था”

Leave a Comment