भारत का विस्तार – कर्क एवं मानक समय रेखाएं

भारत एशिया महाद्वीप के दक्षिण भाग तथा उत्तरी गोलार्ध में स्थित है । भारत का आकार चतुष्कोणीय है । भारत का नामकरण अलग अलग लोगो ने अलग अलग दिया है –
भारत वर्ष – आर्यों द्वारा 
इण्डिया – यूनानियों द्वारा 
हिंदुस्तान – फ़्रांसिसी एवं इरानी 
आर्यावत – प्राचीनकाल और ऋग्वेद में उल्लेख मिलता है ।
 
क्यों कहलाता है मिनी गोवा   – गंगरेल डैम – मिनी गोवा
 

भारत का विस्तार – कर्क एवं  मानक समय रेखाएं 

भारत का क्षेत्रफल 3287263 वर्ग किलोमीटर है और क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का  विश्व में 7 वाँ स्थान है । विश्व के देशो का क्षेत्रफल की दृष्टि से स्थान —
1. रूस
2. कनाडा
3. चीन
4. अमेरिका
5. ब्राजील
6. आस्ट्रेलिया
7. भारत
8. अर्जेंटीना
इसे हम इस तरह याद रख सकते है – RKC A  BABA  (CGPSC की तैयारी हेतु )
  • भारत का क्षेत्रफल विश्व के क्षेत्रफल का 2.43% है ।
  • एशिया भारत दूसरा बड़ा राष्ट्र है ।
  • जनगणना 2011 के अनुसार भारत की जनसंख्याँ 1.21 करोड़ थी ।
  • भारत जनसंख्याँ की दृष्टि से विश्व का दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्र है । चीन प्रथम है ।
  • जनसंख्याँ की दृष्टि से 5 बड़े राष्ट्रों का क्रम – चीन, भारत, अमेरिका, इंडोनेशिया तथा ब्राजील ।
  • भारत की जनसंख्याँ विश्व की जनसंख्याँ का कुल 17.5 % है ।
छ.ग. की कायापलट करने वाले – छिन्द्क नागवंशी 

 भारत का विस्तार

अक्षान्सीय विस्तार –  8°4′  उत्तरी अक्षांस से  37°6′ उत्तरी अक्षांस तक 
देशांतरिय विस्तार – 68°7′  पूर्वी देशांतर से 97°25′  पूर्वी देशांतर तक 
 
 
 
भारत का विस्तार - कर्क एवं  मानक समय रेखाएं

 

युगल जोड़े की पसंदीदा जगह – मनगट्टा वन्य जिव पार्क – राजनांदगांव
 
  • भारत के पूर्वी बिंदु के “वालांगु या नेका  ” के नाम से जाना जाता है, जो की अरुणाचल प्रदेश में स्थित है।
  • पश्चिमी बिंदु को सरक्रीक या कच्छ का रण  के नाम से जाना जाता है, जो की गुजरात में स्थित है।
  • भारत के उत्तरी बिंदु को इंदिरा कॉल के नाम से जाना जाता है, जो की जम्मू कश्मीर में स्थित है।
  • भारत की दक्षिणी बिंदु को इंदिरा पॉइंट के नाम से जाना जाता है, जो की अंडमान निकोबार द्वीप में स्थित है।
  • भारत की पूर्व से पश्चिम की लम्बाई – 2933 की.मी.
  • उत्तर से दक्षिण की लम्बाई – 3214 की.मी.

कर्क रेखा – Tropic of Cancer

  • 23°5′ उत्तरी अक्षांस को कर्क रेखा माना गया है, जो की भारत के 8 राज्यों से होकर गुजरती है 
  • इन राज्यों के नाम निम्न है — गुजरात , राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा तथा मिजोरम है ।
  • कर्क रेखा सर्वाधिक मध्यप्रदेश से तथा सबसे कम राजस्थान से होकर गुजरती है ।
  • झारखंड की राजधानी “रांची” कर्क रेखा के ठीक उपर स्थित है ।

भारतीय मानक समय रेखा – IST Line

  • 82°1/2′ पूर्वी देशांतर को IST रेखा कहते है 
  • ग्रीनविच के समय से +5.30 घंटा आगे है ।
  • GMT/IST रेखा भारत के 5 राज्यों से होकर गुजरती है ।
  • उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, आँध्रप्रदेश तथा ओड़िसा ।
छ.ग. में कवर्धा को किसलिए जाना जाता है   – फणी नागवंशी 

भारत के पडोसी देश

1. सीमा से लगे राज्य
  • बांग्लादेश (5) – पश्चिम बनागल, असम, मेघालय, मिजोरम तथा त्रिपुरा ।
  • चीन (5) – जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम तथा अरुणाचल प्रदेश ।
  • पाकिस्तान (4) – गुजरात, राजस्थान, पंजाब तथा जम्मू कश्मीर ।
  • नेपाल (5) – उत्तराखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश, सिक्किम तथा प. बंगाल ।
  • म्यांमार (4) – अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर तथा मिजोरम ।
  • भूटान (4) – अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, असम तथा प. बंगाल ।
  • अफगानिस्तान (1) – जम्मू कश्मीर
2. 7 देश भारत के 17 राज्यों को स्पर्श करती है ।
3. भारत की सर्वाधिक सीमा बांग्लादेश के साथ 4096 की.मी. के साथ है ।
4. भारत सबसे कम सीमा अफगानिस्तान ( पाक अधिकृत कश्मीर ) 106 की.मी. इसके पश्चात्  भूटान के साथ 699      की.मी. बनाती है ।
4. भारत की स्थल सीमा की कुल लम्बाई 15200 की.मी. है ।
क्या था लक्ष्मीबाई का किले से कूदने का कारण   –  झाँसी की रानी 

भारत के प्रमुख तट

  1. काठियावाड़ तट – गुजरात
  2. कोंकर्ण – महाराष्ट्र व गोवा
  3. कोनार तट – कर्नाटका
  4. कोरोमंडल तट – तमिलनाडु
  5. मालाबार तट – केरल
  6. उत्तरी सरकार/ रॉयल सीमा – आँध्रप्रदेश/ओडिशा
  7. दीघा सीमा – प. बंगाल
तट रेखा से 9 राज्य संलग्न है ।  तट रेखा की सर्वाधिक लम्बाई गुजरात के साथ  1663 की.मी. सबसे कम गोवा के साथ । भारत की तटीय सीमा की कुल लम्बाई 6100 की.मी. है और 6. भारत की द्वीपों सहित तट की लम्बाई 7516.5 की.मी. है ।
78 की.मी. सियाचिन ग्लेशियर जम्मू कश्मीर विश्व का सबसे ऊँचा रण क्षेत्र है ।
 

भारत के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखा 

 
1. रेड्क्लिप रेखा (Redcliff Line) –   पाकिस्तान और भारत के बीच 15 अगस्त 1947 में “सर रेडक्लिफ” ने यह सीमा निर्धारित की थी ।
2. मैकमोहन रेखा (McMohan Line) – भारत और चीन के मध्य 1914 में “सर मैकमोहन” ने निर्धारित किया था।
 
3. डूरंड रेखा (Durand Line) – अविभाजित भारत और अफगानिस्तान के बीच 1896 ई. में निर्धारित किया गया, वर्तमान में यह रेखा पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच है । इस रेखा का नाम  ब्रिटिश इंडिया के तत्कालीन विदेश मंत्री सर मॉर्टिमर डूरंड के नाम पर रखा गया था।
4. पाक जलमडरु या पाक जल संधि – (Palk Bay Boundary ) – यह रेखा भारत और श्रीलंका के मध्य है ।
छ. ग. औद्योगीकरण क्यूँ था जरुरी – औद्योगीकरण संरचना 
 
 

Leave a Comment