मदकू द्वीप बिलासपुर एक प्राचीन मंदिर

 
Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर – मदकू द्वीप एक छोटा और सुंदर द्वीप है, एक प्राचीन मंदिर है, यह छत्तीसगढ़ के शीर्ष पर्यटक आकर्षणों में से एक है।
मदकू द्वीप इस  क्षेत्र का गौरव है, यह पर्यटन स्थल शिवनाथ नदी के किनारे में स्थित है। इसके नाम से ही ज्ञात होता है की इस स्थान को शिवनाथ नदी दोनों ओर से घेरी हुयी है, या यूँ कहिये की शिवनाथ नदी के रास्ते यह पठार है जिसके दोनों तरफ नदी है।यह स्थान प्राचीन  मंदिरों एवं पुरातात्विक दृष्टिकोण से  बहुत प्रसिद्ध है।
 

 
Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर  को संत मदकू(ऋषि मंडकु) के नाम पर रखा गया है। यहाँ खुदाई के दौरान जो भी सामग्री मिली उसके अनुसार कुछ मंदिरों का निर्माण किया गया है एवं कुछ तो अपने ही अवस्था में है।
यह स्थान पिकनिक मनाने के लिए बहुत ही अच्छी जगह है, यहाँ आपको छोटे छोटे दुकानों से रेडीमेड फ़ूड प्राप्त हो सकतें है।

Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर

Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर
Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर  बहुत ही शांत और मनमोहक है, यहाँ नौका विहार की भी व्यवस्था है, किन्तु हम जब गए थे तो यह व्यवस्था नहीं थी, इसलिए इस बारे में पुख्ता कह पाना थोडा मुश्किल है।
Madku Dweep Bilaspur An Ancient Temple- मदकू द्वीप बिलासपुर
यहाँ जाने के लिए रायपुर -बिलासपुर मार्ग पर स्थित बैतलपुर से दाहिने हाथ पर मूढ़ कर भोजपुरी गाँव से होते हुए  जाना पढता है, नेशनल हाईवे से लगभग 4 किलोमीटर की दुरी में स्थित है।
यहाँ जाकर मजा करने के लिए कम से कम 5-6 लोग हो तो मजा दुगुना होगा। रायपुर से मदकू द्वीप की दुरी 85 किलोमीटर लगभग है।

Leave a Comment