संसद – साधारण विधेयक

संसद में प्रस्तुत होने वाले विधेयक निम्न प्रकार हो सकते है : –
  • 1. साधारण विधेयक
  • 2. धन विधेयक
  • 3. वित्त विधेयक
  • 4. संविधान संशोधन

साधारण विधेयक (Ordinary Bill)

साधारण विधेयक के पारित होने के लिए इसे संसद में 5 चरणों में से गुजरना होता है तथा इस दौरान प्रत्येक सदन में 3 वाचन होते है –

प्रथम चरण या प्रथम वाचन 

 
इसमें विधेयक प्रस्तुत करने के आलावा उसके शीर्षक एवं उद्देश्यों की जानकारी दी जाती है, तथा इस गजट पत्र में प्रकाशित किया जाता है ।

द्वितीय चरण या द्वितीय वाचन 

 
इस चरण में 3 उपचारं होते है :-
1. सामान्य चर्चा – इस दौरान सभी सदस्यों को विधेयक की एक एक प्रति दी जाती है तथा सामान्य चर्चा के बाद सदन विधेयक को विचार हेतु रखता है अथवा समिति के पास भेजता है अथवा जनता का विचार पाने सार्वजनिक कर देता है ।
2. समिति चरण – इस चरण में समिति के द्वारा विधेयक में गहन अध्ययन कर आवश्यक संशोधन किये जाते है, तथा उसे पुनः सदन को भेजा जाता है ।
3. प्रावधानवार चर्चा – इस चरण में प्रत्येक प्रावधान पर विस्तृत चर्चा होती है तथा हर प्रावधान पर मतदान के द्वारा उसे स्वीकार या अस्वीकार किया जा सकता है इस दौरान किसी प्रावधान पर संशोधन भी किया जा सकता है ।

संसद – साधारण विधेयक

 
संसद - साधारण विधेयक

 

तृतीय चरण या तृतीय वाचन 

इस चरण में सम्पूर्ण विधेयक पर मतदान होता है, सदन इसे या तो पारित कर दे या निरस्त कर दे ।

चौथा चरण

पहले सदन से पारित होकर विधेयक दुसरे सदन में जाता है, तथा वहां पुनः प्रथम 3 चरण दोहराए  जाते है, अगर विधेयक दुसरे सदन के द्वारा भी पारित कर दिया जाये तो वह अंतिम चरण में पहुँचता है ।

पांचवां चरण 

राष्ट्रपति की अनुमति के बाद विधेयक अधिनियम बन जाते है ।

Leave a Comment