छत्तीसगढ़ में उद्योग की शुरुआत एवं वर्गीकरण

छत्तीसगढ़ में उद्योग की शुरुआत एवं वर्गीकरण   – इसके पहले भाग में हमने छत्तीसगढ़ की साक्षरता , नगरीय एवं ग्रामीण जनसंख्याँ, अनुसूचित जाति एवं जनजाति जनसंख्याँ, एवं अन्य धर्म सम्बन्धी जनसंख्याँ के विषय में पढ़ा । आज हम छत्तीसगढ़ के उद्योग (Industries) एवं उसका वर्गीकरण (Classification) के विषय में पढेंगे ।

छत्तीसगढ़ प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध राज्य है, प्रदेश में खनिज, उर्जा, जल, व मानवीय संसाधन पर्याप्त होने के बावजूद राज्य घट्न होने तक क्षमता अनुसार राज्य का औद्योगिकीकरण नहीं हुआ ।
स्वतंत्रता के पहले छत्तीसगढ़ राज्य में सिमित उद्योग ही स्थापित थे, किन्तु स्वतंत्रता के पश्चात् द्वितीय पंचवर्षीय योजनाकाल से इस क्षेत्र में उद्योगी का नियोजित विकास हुआ ।

स्वतंत्रता के पहले – Before Independence

  1. बंगाल नागपुर कॉटन मील ( BNC Mill) – 1892, राजनंदगांव Raajnandgaon
  2. बिलासपुर रेलमंडल ( Bilaspur Railway Division ) – 1900, बिलासपुर
  3. मोहन जुट मील ( Mohan Jute Mill ) – 1935, रायगढ़

Starting of the industry in Chhattisgarh and their Classification

छत्तीसगढ़ में उद्योग की शुरुआत एवं वर्गीकरण

Chhattisgarh Me Udhyog (Industries) ki Shuruaat aur Vargikaran

स्वतंत्रता के पश्चात् – After Independence

  1. 1955 – इस्पात सयंत्र ( Steel Plant ) हेतु भारत का रूस (Russia) आज सोवियत संघ USSR से अनुबंध हुआ ।
  2. इसी पंचवर्षीय योजनाकाल में भिलाई इस्पात सयंत्र ( Bhilai Steel Plant ) BSP का निर्माण हुआ । 1959 से भिलाई इस्पात सयंत्र का उत्पादन शुरू हुआ ।
  3. 1965 –  एसोसियेट सीमेंट कारपोरेशन ( ACC ) बना – स्थान जामुल दुर्ग 
  4. 1965 – भारत एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड ( BALCO) कोरबा की स्थापना और उत्पादन 1972 से हुआ।
  5. 1966 –  रेलवे वैगन रिपेयर शॉप WRS रायपुर – इसका कार्य प्रारम्भ 1968 में हुआ और यहाँ रेलवे वैगन ( मालगाड़ी के डिब्बे) बोगियों की मरम्मत एवं सुधर की जाति है ।
  6. 1968 – राष्ट्रिय खनिज विकास निगम ( National Mineral Development Corporation ) किरंदुल – दंतेवाडा  की स्थापना ।
  7. 1978 – नेशनल थर्मल पॉवर कारपोरेशन (NTPS) कोरबा की स्थापना ।
  8. 1978भारत रिफैक्ट्रिज लिमिटेड (BRP) भिलाई में स्थापना – यहाँ मुख्य रूप से अग्नि सह ईंटों का निर्माण किया जाता है ।
  9. 1979 – फेरो स्क्रैप कारपोरेशन लिमिटेड भिलाई की स्थापना । लौह अयस्क से इस्पात निर्माण की प्रक्रिया में कुछ प्रतिशत लौह इस्पात का स्क्रैप के रूप में निकलता है जिसका पुनः उपयोग करने के लिए इसकी स्थापना की गई है ।
  10. 1985Bhilai Engineering Corporate ( BEC – Fertilizer ) सिरगिट्टी बिलासपुर – उर्वरक निर्माण
  11. 1987 – SECL (South Eastern Coal Limited) बिलासपुर – यह कोल इंडिया कम्पनी (CIL) के अधीन कोयला उत्खनन कम्पनी है ।
  12. 1988जिंदल स्टील प्लांट लिमिटेड ( JSPL ) रायगढ़
  13. 2001NSPCL ( NTPC SAIL Power Company Limited ) यह NTPC और SAIL का संयुक्त उपक्रम है ।
  14. 2002 – NTPC सीपत बिलासपुर की स्थापना 
  15. 2003 – दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे जोन ( SECR ) बिलासपुर – यह भारत का 16 वां रेल्वे जोन है ।

उद्योगों का वर्गीकरण – Classification of Industries

खनिज आधारित उद्योग

  1. कपडा उद्योग
  2. जूट उद्योग
  3. शक्कर कारखाना
  4. मैदा उद्योग
  5. चांवल उद्योग

वन आधारित उद्योग

  1. कागज उद्योग
  2. कत्था उद्योग
  3. कोषा उद्योग
  4. रेशम उधोग
  5. लाख उद्योग

अन्य उद्योग

  1. माचिस उद्योग
  2. सिगरेट उद्योग / बीड़ी उद्योग
  3. उर्वरक उद्योग

Leave a Comment